Uncategorized

ईसाई लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया, पिछले दो हफ्ते में तीसरी घटना



इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक स्कूल शिक्षक ने एक 15 वर्षीय ईसाई लड़कीफैज मुख्तार कापर जबरन धर्म परिवर्तन कराया। पिछले दो हफ्ते में यह तीसरी घटना है, जब किसी लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया।पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत नेशनिवार को ट्वीट कर घटना की जानकारी दी।

फैजशेखपुरा के एक सरकारी स्कूल में पढ़ती थी। उसके स्कूल काएक शिक्षक फैज को मदरसा लेकर आया और वहां जबरन उसको मुस्लिम धर्म कबूल कराया गया। नायला के मुताबिक, शिक्षक ने कहाकिमुस्लिम बनने के बाद पीड़िता अपनेघर नहीं जा सकती है।

शिक्षक लड़कियों को अरबी पढ़ाता है

नायला ने कहा, लड़की के परिजनका भीजबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। स्कूल काशिक्षक लड़कियों को अरबी पढ़ाताथा। नायला ने ट्वीट किया, “पाकिस्तान में एक अन्य लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन। लड़की के माता-पिता का कहना है कि उसे एक मदरसा ले जाया गया और उसका धर्म परिवर्तन कराया गया। अब इस गरीब परिवार को भी धर्म परिवर्तन करा दिया गया।”

बंदूक की नोक पर सिख लड़की को अगवा किया था

पिछले 10 दिनमें यह तीसरी घटना है जब किसी अल्पसंख्यक समुदाय के लड़की का कथित तौर पर मुस्लिम में धर्म परिवर्तन कराया गया। इससे पहले, 27 अगस्त को कट्टरपंथियों ने लाहौर में एक सिख लड़की जगजीत कौर (19) को अगवाकर जबरन धर्म परिवर्तन कराया था। वह गुरूद्वारा तम्बू साहिब के ग्रंथी की बेटी थी। इसके बाद 2 सितंबर को सिंध प्रांत की एक हिंदू छात्रा रेणुका कुमारी का भी धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया था।

DBApp

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


दांय हिंदू छात्रा रेणुका कुमारी, ऊपर सिख लड़की जगजीत कौर और नीचे ईसाई छात्रा फैज मुख्तार।


15 वर्षीय ईसाई लड़की फैज मुख्तार।

Source: bhaskar international story