एक्सपर्ट्स का दावा- बीजिंग में परफ्यूम, हेयर जेल की वजह से बढ़ रही स्मॉग की समस्या

content-single



बीजिंग. चीन में लगातार खराब होती एयर क्वालिटी की वजह से सोमवार को राजधानी बीजिंग के कई इलाकों में धुंध छा गई। सुबह शहर में वायु प्रदूषण का स्तर 213 पीपीएम (हवा में प्रदूषकों की मात्रा) दर्ज किया गया, जो कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों के हिसाब से खतरे के ऊपर स्तर है। इसी बीच एक्सपर्ट्स ने दावा किया है कि बीजिंग में स्मॉग बढ़ने की एक वजह परफ्यूम, हेयर स्प्रे और रूम फ्रेशनर हैं।

  1. पहले कई रिसर्च में औद्योगिकरण और ऑटोमोबाइल्स को प्रदूषण की मुख्य वजह बताया जा चुका है। हालांकि, नई स्टडी में दावा किया गया है कि स्मॉग की एक वजह कार्बन आधारित (ऑर्गेनिक) केमिकल्स जो कि रोजमर्रा के इस्तेमाल में आने वाले परफ्यूम, रूम फ्रेशनर और हेयर स्प्रे में बड़ी मात्रा में पाए जाते हैं।

  2. जानकारों के मुताबिक, कार्बन आधारित केमिकल्स में प्रदूषकों यानी 2.5 पीपीएम कणों की मात्रा करीब 12% होती है। इन्हीं 2.5 पीपीएम कणों की वजह से पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है।

  3. चीन की एकेडमी ऑफ साइंस के रिसर्चर वांग गेंगचेन के मुताबिक, इस तरह के अप्रत्यक्ष प्रदूषण से निपटने के लिए सरकार को कुछ नीतियां बनानी पड़ेंगी। कार्बन आधारित प्रदूषकों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

  4. बीजिंग में प्रदूषण से निपटने के लिए कई तरीके आजमाए जा चुके हैं। वहां वॉटर कैनन से लेकर प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों की नियमित चेकिंग और उन पर प्रतिबंध भी लगाए जा रहे हैं। 2015 के बाद ज्यादातर उद्योगों को शहर से दूरदराज के इलाकों में लगाया गया है। इसके बावजूद 2.1 करोड़ की आबादी वाले शहर को प्रदूषण से निजात नहीं मिल पाई है।

  5. चीन में स्मॉग से बचने के लिए सरकार ने नागरिकों को मास्क और एयर प्यूरिफायर सिस्टम लगाने के लिए कहा है। आमतौर पर चीन में प्रदूषण के बढ़े स्तर के दौरान निर्माण कार्यों और वाहनों पर रोक लगा दी जाती है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Chinese experts claim pollution rising due to perfumes, Hair gel

      Source: bhaskar international story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »