एरिक श्मिट 18 साल बाद बोर्ड मेंबर का पद छोड़ेंगे, कहा- नए टैलेंट को मौका देना चाहता हूं



सैन फ्रांसिस्को. गूगल के पूर्व सीईओ एरिक श्मिट (64) इस साल जून में कंपनी के बोर्ड मेंबर का पद भी छोड़ देंगे। वो मार्च 2001 से बोर्ड में हैं। श्मिट 2001 से 2011 तक गूगल के सीईओ रहे थे।उनका कहना है कि वो नए टैलेंट को मौका देना चाहते हैं। पिछले साल की शुरुआत में उन्होंने गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट के चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया था। फिलहाल वो टेक्निकल एडवाइजर की भूमिका में हैं और बोर्ड की सदस्यता छोड़ने के बाद भी सलाहकार बने रहेंगे।

  1. गूगल के फाउंडर लैरी पेज और सर्गे ब्रिन ने 2001 में श्मिट को सीईओ बनाया। उस वक्त गूगल को शुरू हुए सिर्फ 3 साल हुए थे। श्मिट ने गूगल को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई। श्मिट, पेज और ब्रिन गूगल के तीन सबसे प्रभावी अधिकारी माने जाते हैं। 10 साल बाद 2011 में श्मिट की जगह लैरी पेज सीईओ बन गए।

  2. अल्फाबेट के बोर्ड चेयरमैन जॉन हेनेसी का कहना है कि श्मिट ने सीईओ, चेयरमैन और बोर्ड मेंबर के तौर पर गूगल और अल्फाबेट के लिए अहम भूमिका निभाई है। हम लंबे समय तक उनके नेतृत्व और मार्गदर्शन के लिए आभारी हैं।

  3. पिछले साल अल्फाबेट के चेयरमैन का पद छोड़ते हुए श्मिट ने कहा था कि वो परोपकार, विज्ञान और टेक्नोलॉजी से जुड़े कामों के लिए ज्यादा वक्त देंगे। श्मिट की नेटवर्थ 14 अरब डॉलर (98,000 करोड़ रुपए) है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      एरिक श्मिट।

      Source: bhaskar international story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »