G-8QW5MM8L67

कभी ट्रैफिक पुलिस में करते थे जॉब, अब खुद को बताते हैं भगवान का रूप

कभी एक साधारण ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी की तरह ड्यूटी करने वाले सर्गेई तोरोप को रूस के एक गांव में लोग अब जीसस का रूप मानते हैं। साउथ साइबेरिया के छोटे से गांव पेत्रोपावलोका में सर्गेई के 5 हजार से ज्यादा फॉलोअर्स हैं और उन्हें जीसस का अवतार मानते हैं। लंबे बाल, बड़ी दाढ़ी, सफेद पोशाक पहने सर्गेई बताते हैं कि 1991 के बाद उन्हें अहसास हुआ कि वो जीसस का पुनर्जन्म हैं। उनके उपदेश सुनने के लिए सैकड़ों फॉलोअर्स ने उनके चर्च के आसपास ही बसेरा बना लिया है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Source: bhaskar international story

Visits:153

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *