खाने की खोज में ध्रुवीय भालू अपने मूल स्थान से भटककर 700 किमी दूर निकल गया

content-single



मॉस्को. खाने की खोज में एक ध्रुवीय भालू अपने मूल स्थान से भटककर 700 किमी दूर निकल गया। कमचाटका द्वीप के लोगों ने जब ध्रुवीय भालू को देखा तो वह हतप्रभ रह गए। रूसी मीडिया का कहना है कि खाने की तलाश में भालू चुकोतका गांव से कमचाटका पहुंच गया। दोनों के बीच की दूरी करीब 700 किमी (434 मील) है।

  1. पर्यावरणविदों का मानना है कि बर्फ के एक टुकड़े पर घूमते हुए भालू रास्ता भटक गया था। उनका कहना है कि आर्कटिक के गर्म होने से शिकार की जगहें छोटी हो रही हैं। इससे भालू लोगों के संपर्क में आ रहे हैं। ग्रीनपीस के व्लादिमीर चुपरोव का कहना है कि बर्फ के पिघलने से ध्रुवीय भालुओं के लिए परेशानी बढ़ रही है।

  2. हालांकि, लोग ऐसे भालुओं का स्वागत कर रहे हैं। उन्हें खाने के लिए मछलियां दी जा रही हैं। ऑनलाइन वीडियो दिखाते हैं कि जानवर लोगों के पास जाकर खाना खा रहा है। इस दौरान वह आक्रमक नहीं हुआ।

  3. कमचाटका प्रशासन का कहना है कि अब योजना बनाई गई है कि रास्ता भटकने वाले भालुओं को बेहोश किया जाए और फिर हेलिकॉप्टर के जरिएउन्हें वापस चुकोतका भेजा जाए।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      ध्रुवीय भालू

      Source: bhaskar international story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »