छात्र की हत्या के जुर्म में भारतीय मूल के युवक समेत 2 लोगों को उम्रकैद

content-single



लंदन. ब्रिटेन में भारतीय मूल के व्यक्ति और उसके एक अन्य साथी को मंगलवार को उम्रकैद की सजा सुनाई गई। ओल्ड बेली कोर्ट ने सजा सुनाते हुए कोर्ट ने कहा कि उनकी रिहाई पर 30 साल तक कोई सुनवाई नहीं होगी।

जसकिरन सिद्धू (28) और उसके साथी फिलिप बाबटुंडे फाशकिन (26) के बीच पिछले साल 11 अक्टूबर को ड्रग लेने पर विवाद हुआ था। दोनों ने गुस्से में कार से जा रहे छात्र हाशिम अब्दल अली (22) को नजदीक से गोली मार दी थी। उसकी मौत हो गई थी। कार अली का दोस्त चला रहा था।पिछले हफ्ते कोर्ट ने सिद्धू और फाशकिन कोदोषी ठहराया। कोर्ट ने कहा कि इस सजा से अली के परिजनों को कुछ राहत मिलेगी।

अली को बचाने की कोशिश नाकाम रही

कार चला रहा अली का दोस्त घटना के बाद कार लेकर हॉस्पिटल की तरफ भागा। इस बीच वह सड़कों पर पार्क कई अन्य वाहनों से टकराया। रास्ते से गुजर रही एक एंबुलेंस से मदद मांगी, लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी अली को बचाया नहीं जा सका।

डस्टबिन में कपड़े डालते दिखे थे दोषी

सीसीटीवी की जांच में पता चला कि घटना को अंजाम देने के बाद दोनों दोषियों ने एक दुकान से कपड़े खरीदे। वे घटना के वक्त पहने गए कपड़े दुकान के बाहर रखी डस्टबिन में डालते भी दिखे। उन्होंने नई सिम भी अलॉट करवा ली थी। हत्या के बाद दोनों फिल्म देखने चले गए। पुलिस ने उन्हें पिछले साल 30 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


प्रतीकात्मक चित्र।

Source: bhaskar international story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »