G-8QW5MM8L67

डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन (dr bhimrao ambedkar life)

 

डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन (dr bhimrao ambedkar life)

डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन (dr bhimrao ambedkar life) जिन्हें  बाबासाहेब  अम्बेडकर  के  नाम  से  भी  जाना  जाता  है,

  एक  महान  समाजसेवी,  न्यायशास्त्री,  राजनीतिज्ञ,  और  भारतीय  संविधान  के  मुख्य  निर्माता  थे।  

उनका  जन्म  14  अप्रैल  1891  को  मध्य  प्रदेश  ( आज  के  मध्य  प्रदेश )  के  महु  गांव  में  हुआ ।  उनकी  मृत्यु  6  दिसंबर  1956  को  हुई

डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन (dr bhimrao ambedkar life)

 

  • डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन (dr bhimrao ambedkar life) का  जन्म  एक  दलित  परिवार  में  हुआ  और  वे  स्वयं  
  • एक  दलित  ( अनुसूचित  जाति )  थे ।  उन्होंने  अपने  जीवन  में  अपार  संघर्ष  और  परिश्रम  किया  ताकि  दलित  समाज
  •  की  समस्या ओं  को  उजागर  करें  और  उन्हें  समाजी  एवं  नैतिक  सम्मान  प्राप्त  हो  सके ।
  •   न्यायशास्त्र  की  पढ़ाई  की  और  विदेशों  में  शिक्षा  प्राप्त  की ।  और महाराष्ट्र  विश्वविद्यालय  से  वकालती  पदवी  हासिल 
  • की  और  विदेशों  में  लंदन  विश्वविद्यालय  से  विधि  और  न्यायशास्त्र  में  डॉक्टरेट  प्राप्त  किया ।

डॉ.   भीमराव   अम्बेडकर  शिक्षा   : (Dr. Bhimrao Ambedkar Education)

 

  • एक सफल क्रांति के लिए सिर्फ असंतोष का होना पर्याप्त नहीं है जिसकी आवश्यकता है वो है न्याय एवं राजनीतिक और
  • सामाजिक अधिकारों में गहरी आस्था।

डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन (dr bhimrao ambedkar life)

 

शिक्षा  की  प्रारंभिक  अवधि (Early period of education ) भीमराव  अम्बेडकर  ने  अपनी  प्रारंभिक  शिक्षा  महु

 और  सतारा  जिले  के  स्थानीय  विद्यालयों  में  प्राप्त  की।  उन्होंने  अपनी  मूलभूत  शिक्षा  को  संगठित  करना  शुरू  किया  

और  उन्हें  पठन – लेखन  के  आदान – प्रदान  का  ज्ञान  हुआ।

विदेशों  में  अध्ययन: ( Study Abroad)  भीमराव  अम्बेडकर  ने  ब्रिटेन  में  शिक्षा  प्राप्त  की।  उन्होंने  1913  में  

लंदन  विश्वविद्यालय  से  विधि  और  न्यायशास्त्र  में  उच्चतर  अध्ययन  किया  और  1916  में  उन्हें  डॉक्टरेट  पद  प्राप्त  हुआ।

यह  उनके   लिए  एक  महत्वपूर्ण  सामाजिक  और  शैक्षिक  पहला  कदम  था

डॉ   भीमराव   अंबेडकर   द्वारा   लिखित   पुस्तकें 🙁 Books written by Dr. Bhimrao Ambedkar)

उनकी पुस्तकें सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक, धार्मिक, और न्यायशास्त्र से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर आधारित हैं। यहां कुछ

उनकी प्रमुख पुस्तकों का उल्लेख किया गया है:

  • “आनंदिबाई  जीवन  चरित्र” :  इस  पुस्तक  में  डॉ.  अम्बेडकर ने आनंदिबाई आंबेडकर, उनकी माता, के जीवन का वर्णन
  • किया है। इस पुस्तक में वे उनके जीवन के विभिन्न पहलुओं के बारे में चर्चा करते हैं।
  • “बुद्ध और उनका धम्म”: यह पुस्तक भगवान बुद्ध और उनके धर्म के सिद्धांतों पर आधारित है। डॉ. अम्बेडकर ने इस पुस्त
  • में बुद्ध के जीवन, संदेश, और उनके धर्म की महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में विस्तार से लिखा है।
  • “भारतीय संविधान”: यह पुस्तक डॉ. अम्बेडकर की सबसे महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध पुस्तकों में से एक है। इसमें उन्होंने भारतीय संविधान के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान बताया ह ।        

 

डॉ  भीमराव  अंबेडकर  राजनीतिक  सफर  : ( Political  journey  of  Dr.  Bhimrao  Ambedkar )

  • डॉ. भीमराव अंबेडकर, जिन्हें बाबासाहेब अंबेडकर के नाम से भी जाना जाता है, भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक
  • सुधारक, विचारक, न्यायवादी, आर्थिक निर्माता और भारतीय संविधान के मुख्य रचनाकार थे। वह भारतीय नागरिकों के
  • अधिकारों और समानता के पक्षधर बनने के लिए लड़े और दलितों के प्रति जातिवादी व्यवस्था के खिलाफ उठे। उनकी
  • महत्वपूर्ण यात्रा और राजनीतिक सफर को कई महत्वपूर्ण मोड़ों में विभाजित किया जा सकता है:
  • न्यायालयीन सफर: भीमराव अंबेडकर का पहला महत्वपूर्ण राजनीतिक सफर न्यायपीठ के द्वारा गठित की गई थी। वह
  • न्यायमूर्ति के रूप में कार्य करते हुए जाति और अनुच्छेद १६० के मुद्दे पर काम करने के लिए प्रतिष्ठित थे। इसमें उन्होंने
  • अनुच्छेद १६० के आधार पर शिकायतों के खिलाफ न्याय दिया और विभाजन के समय अस्पष्टताओं को सुधारने का
  • प्रयास किया।

पुरस्कार / सम्मान : (Awards / Honors )

डॉ. भीमराव अंबेडकर को अपने महान योगदान के लिए कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त हुए हैं। यहां कुछ प्रमुख पुरस्कार और

सम्मानों का उल्लेख किया गया है:

  • भारत रत्न: डॉ. भीमराव अंबेडकर को 1990 में भारत सरकार द्वारा भारत रत्न, भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान, प्रदान
  • किया गया। यह सम्मान उनके महत्वपूर्ण योगदान और सामाजिक सुधार कार्यों को मान्यता देता है।
  • भारतीय संविधान के मुख्य रचनाकार: डॉ. अंबेडकर को भारतीय संविधान के मुख्य रचनाकार के रूप में महान प्रमाण
  • प्राप्त हुआ है। उन्होंने संविधान संशोधन समिति के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया और एक न्यायपालिका की स्थापना के लिए
  • भी प्रयास किया।

डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन (dr bhimrao ambedkar life)

भारतीय नागरिकता: और नागरिकता के महान संरक्षक के रूप में मान्यता दी गई है। और संविधान के माध्यम से सभी भारतीय

नागरिकों को समान अधिकार और संरक्षण प्रदान करने के लिए समर्पित काम किया। डॉ.  भीमराव  अम्बेडकर जीवन

 

 

 

 

 

Visits:300

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *