पर्यटकों की बढ़ती आमद पर पाबंदी लगाएगा ब्रजेस, ऐसा करने वाला यूरोप का दूसरा शहर

content-single



ब्रसेल्स.अब बेल्जियम के शहर ब्रजेस ने भी पर्यटकों की आमद पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है। ब्रजेस अपनी मध्यकालीन इमारतों के जाना जाता है। 2000 में उसे यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया था। पर्यटकों की संख्या नियंत्रित करनेकरने वाला वह यूरोप का दूसरा शहर है। इससे पहले एम्सटर्डम ने ज्यादा पर्यटकों की आमद को देखते हुए टूरिस्टों को लुभाने वाले विज्ञापन पर प्रतिबंध लगाया था।

स्थानीय अफसरों का मानना है कि लोकप्रियता के साथ चुनौतियां भी आती हैं। ब्रजेस के मेयर डर्क द फॉ ने कुछ ऐसे नियम बनाए हैं जिनसे शहर में पर्यटकों की तादाद पर नियंत्रण रखा जा सकेगा।

‘पर्यटन को बढ़ावा देने वाले विज्ञापन नहीं होंगे’
स्थानीय अखबार हेत न्यूजब्लाद के मुताबिक, प्रशासन ने फैसला लिया है कि अब शहर लाने वाले यातायात के साधनों को बढ़ा-चढ़ाकर नहीं बताया जाएगा। साथ ही जीब्रग पोर्ट पर क्रूज की संख्या कम की जाएगी। फिलहाल पोर्ट पर एक वक्त में 5 शिप होते हैं, इनकी संख्या घटाकर 2 की जा रही है। क्रूज कंपनियों को वीकेंड के बजाय हफ्ते के बीच में शिप खड़ा करने के लिए कहा जाएगा, ताकि एक बार में भीड़ को आने से रोका जा सके।

वहीं, टूरिज्म बोर्ड ने भी कहा है कि राजधानी ब्रसेल्स समेत अन्य शहरों में एडवर्टाइजिंग कैम्पेन को खत्म किया जाएगा। इसका मकसद भी पर्यटकों की संख्या कम करना ही है। फॉ कहते हैं कि हम टूरिस्टों की आमद पर नियंत्रण करना चाहते हैं। हम डिज्नीलैंड नहीं बनना चाहते जहां लोगों की भीड़ लगी रहे।

लोग चाहते हैं पर्यटक आएं
2017 में बेल्जियम में एक सीनियर रिसर्चर विन्सेंट निस से टूरिज्म डेटा को लेकर शोध कराया था। इसके मुताबिक, 76% लोगों ने पर्यटकों के आने पर खुशी जताई थी। 70% लोगों ने कहा था कि लोगों के शहर में आने से राजस्व बढ़ता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Popular medieval Belgian town Bruges makes moves to restrict tourism

Source: bhaskar international story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »