लेजर पर नई खोज के लिए तीन को नोबेल; एश्किन को रिकॉर्ड 96 की उम्र में मिला पुरस्कार



स्टॉकहोम. भौतिकी के क्षेत्र में योगदान के लिए इस साल तीन वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कारसे सम्मानित किया जाएगा। रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने लेजर फिजिक्स पर खोज के लिए अमेरिका के आर्थर एश्किन, फ्रांस के गेरार्ड मोरोऔर कनाडा की डोना स्ट्रिकलैंड के नाम का ऐलान किया। तीनों वैज्ञानिकों को 90 लाख स्वीडिश क्रोनर (करीब 7.35 करोड़ रुपए) दिए जाएंगे।

96 साल केएश्किन को ऑप्टिकल ट्वीजर्स पर रिसर्च के लिए नोबेल की आधी इनामी राशि दी जाएगी। वेपुरस्कार पाने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति हैं। उन्होंने लेजर बीम के जरिए पार्टिकल्स, परमाणु, वायरस और कोशिकाओं कोपकड़ने वाली तकनीक की खोज की। दो अन्यविजेताओं को बाकी बची इनामी राशि को साझा करना होगा।मोरो और स्ट्रिकलैंड को यह अवॉर्ड सबसे छोटी और तीव्र लेजर तरंगों की खोज के लिए मिला। उनकी तकनीक का इस्तेमाल आंखों की सर्जरी के लिए किया जा रहा है।

स्ट्रिकलैंड 55 साल बाद भौतिकी का नोबेल पाने वाली महिला

कनाडा की ओंटारियो यूनिवर्सिटी में रिसर्चर स्ट्रिकलैंड 55 साल बाद फिजिक्स में नोबेल पाने वाली महिला बनी हैं। उनसे पहले यह अवॉर्ड 1963 में न्यूक्लियर स्ट्रक्चर पर खोज करने वाली मारिया मेयर को मिला था। स्ट्रिकलैंड इतिहास में फिजिक्स का नोबेल जीतने वाली तीसरी महिला भी हैं। भौतिकी का पहला नोबेल पाने वाली पहली महिलामैरी क्यूरी थीं। उन्हें1903 मेंपति पियरे क्यूरी और हैनरी बैक्वेरल के साथ संयुक्त रूप से रेडियो एक्टिविटी की खोज के लिए ये पुरस्कार मिला था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Nobel Physics Prize Awarded To Arthur Ashkin, Gerard Mourou, Donna Strickla

Source: bhaskar international story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »