सुरतपुरा गाँव में खरीब की फसल को भारी नुकसान: मुवावजा की बात को नही मान रही है सरकार

content-single

भारी बारिश के कारण सुरतपुरा गाँव में खरीब की फसलो को पंहुचा भारी नुकसान

वेसे तो राजस्थान राज्य सबसे से गर्म और सबसे ठंडा इलका है पर यह सब तो कुद्रत की देन है. राजस्थान राज्य के ज्यदातर जिले कृषि आधारित है और जिन  जिलो के किसान पूरी तरह से मई और जून की बारिश पर निर्भर रहते है और यदि मई और जून की बारिश अच्छी नही होती तो इनके चहरे पर मायूशी रहती है और रहगी भी क्यों नही क्यों की इस बारिश से ही उनका पूरा परिवार चलता है और पुरे साल का अनाज आता है|

क्या आप के अनुसार किसानो को खरीब की फसल के नुकसान का मुवावजा जल्दी मिलना चाहिय ?

सन् 2018 की बारिश राजस्थान राज्य में बहूत देरी से चालू होई थी लकिन जब चालू होई तब सभी किसनो के चहरे खिल गये थे लेकिन क़ुदरत को कुछ और ही मंजूर था सुब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन सितम्बर माह के पहले सप्ताह में जो बारिश होई थी उस में सभी कि किसानो के चहरे पर उदासी छाह गयी है क्यों उन सभी किसानो को सिर्फ खरीब फसल से बहुत ज्यदा उम्मीद होती है|

खरीब की फसल को नुकसान

सितम्बर माह के पहले सप्ताह में जो बारिश होई थी उस से फसलो को भारी नुकसान होआ है लेकिन किसान अब मुवावजे की माग कर रहा है लेकिन सभी पार्टी लोग और नेतागण अभी सन 2018 में होने वाले विधान सभा चुनाव में व्यस्त है वो अभी किसी भी गरीब किसान को खरीब फसल का मुवाजा देने को लेकर आगे नही आ रहे है|

राजस्थान में भारी बारिश के कारण किसान की फसल खराब हो गई । यह तस्वीर  और यह दशा जयपुर जिले के सांगानेर तहसील के सूरतपुरा गांव के किसान अर्जुन लाल जाट के खेत की है  अब ये मुवावजा की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार सुन नही रही है ।

खरीब की फसल
खरीब की फसल

भारी बारिश के कारण खरीब की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गयी है और राजस्थान सरकार अभी अपने चुनावी प्रचार में लगी हौई है वो अभी किसी भी किसानो के बारे में नही सोच रही है यदि वो किसनो के बारे में नही सोचेगी तो राजस्थान राज्ये के किसनो का क्या होगा? हमारे जाँच के अनुसार कोई फसल यदि किसी भी प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान का मुवावजा देने का प्रावधान है लेकिन यह सब कम सरकार की कमजोरियों को उजागर कर रही है|

मुवावजे की मांग

राजस्थान सरकार मुवावजे की बात को नही मान रही है जिस राजस्थान राज्य के किसानो में सरकार के प्रति थोडा रोष है क्यों खरीब की फसल ही सभी किसानो की रोज़ी रोटी का साधन है वह पूरी तरह से खरीब की फसल पर निर्फर रहते है यदि खरीब की फसल का मुवावजा यदि राजस्थान सरकार नही देगी तो किसान क्या करेगा

आप भी अपनी राय दे सकते हो की किसानो को मुवावजा मिलना चाहिए क्या?

क्या आप के अनुसार किसानो को खरीब की फसल के नुकसान का मुवावजा जल्दी मिलना चाहिय ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »