बांग्लादेश ने कहा- यह भारत का आंतरिक मसला, फ्रांस बोला- पाकिस्तान क्षेत्र में शांति बनाए रखे

content-single



नई दिल्ली.जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर भारत को पड़ोसी बांग्लादेश का साथ मिला है। बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कश्मीर को भारत का आंतरिक मसला बताया गया। विदेश मंत्री शाहिदुल हक ने कहा कि बांग्लादेश ने हमेशा क्षेत्रीय शांति और स्थिरता का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र का विकास सभी देशों की प्राथमिकता होनी चाहिए।

फ्रांस की तरफ से भी कश्मीर पर भारत का समर्थन किया गया है। फ्रांस के यूरोप और विदेश मामलों के प्रवक्ता ज्यां-वेस ले ड्रायन ने कहा कि कश्मीर पर हमारी नीति स्पष्ट है। यह मामला भारत-पाक को द्विपक्षीय राजनीतिक बातचीत के जरिए सुलझाना है। दरअसल, ज्यां ने पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से मंगलवार को फोन पर बात की। इसमें ज्यां ने पाक से क्षेत्र में शांति स्थापित करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई भी स्थिति पैदा नहीं होनी चाहिए जिससे दोनों के बीच तनाव बढ़े।

जी-7 समिट में मोदी से कश्मीर मुद्दे पर बात करेंगे फ्रांस के राष्ट्रपति
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों कश्मीर मुद्दे पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे। फ्रांस के एक राजनायिक ने नाम न उजागर करने की शर्त पर कहा कि मैक्रों जी7 समिट में इस पर मोदी से चर्चा करेंगे। राजनायिक ने कहा कि हम भारत के साथ कूटनीतिक साझेदारी में हैं। इसका मतलब हमें एक दूसरे पर भरोसा होना चाहिए।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीन (बाएं) और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों।

Source: bhaskar international story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »